Laxmi Mata ki Aarti

Laxmi Mata ki Aarti लक्ष्मी माता की आरती के बिना उनका पूजा लक्ष्मी माता की पूजा अधूरी रह जाती हैं। संसार में हर व्यक्ति को भौतिक वस्तुओं का आनंद लेना है और भौतिक वस्तु के लिए धन की आवश्यकता पड़ती है और माना जाता है कि धन की देवी माता लक्ष्मी जी हैं।

माता लक्ष्मी की आरती करने से भक्तों का सभी दुख-दर्द, पाप-विकार नष्ट हो जाते हैं और माता लक्ष्मी की कृपा उन पर बरसने लगती हैं।

Ganesh Ji ki Aarti

आप माता लक्ष्मी को प्रसन्न करना चाहते हैं उनकी कृपा पाना चाहते हैं तो आप माता की पूरे श्रद्धा नियम से पूजा प्रार्थना करें। आपको जरूर माता लक्ष्मी की कृपा मिलेगी।

ॐ जय लक्ष्मी माता मैया जय लक्ष्मी माता – लक्ष्मी जी की आरती

महालक्ष्मी नमस्तुभ्यं नमस्तुभ्यं सुरेश्वरि।
हरि प्रिये नमस्तुभ्यं नमस्तुभ्यं दयानिधे।।


ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता
तुमको निस दिन सेवत, मैया जी को निस दिन सेवत
हर विष्णु विधाता,
ॐ जय लक्ष्मी माता…। 1।


उमा रमा ब्रह्माणी, तुम ही जग माता
ओ मैया तुम ही जग माता,
सूर्य चंद्रमा ध्यावत, नारद ऋषि गाता
ॐ जय लक्ष्मी माता…।2।


दुर्गा रूप निरंजनि, सुख संपति दाता
ओ मैया सुख संपति दाता,
जो कोई तुमको ध्यावत, रिद्धि सिद्धि धन पाता
ॐजय लक्ष्मी माता….।3।


तूम पाताल निवासिनी, तुम ही शुभ दाता
ओ मैया तुम ही शुभ दाता,
क्रम प्रभाव प्रकाशिनी, भव निधि के दाता
ॐ जय लक्ष्मी माता….।4।


जिस घर तुम रहती तहं सब सद्गुण आता
ओ मैया सब गुण आता,
सब संभव हो जाता, मन नहीं घबराता
ॐ जय लक्ष्मी माता…।5।


तुम बिन यज्ञ न होते, वस्त्र न कोई पाता
ओ मैया वस्त्र न कोई पाता,
खान-पान का वैभव सब तुमसे आता
ॐ जय लक्ष्मी माता…।6।


शुभ गुण मंदिर सुंदर, क्षीरोदधि जाता
ओ मैया क्षीरोदधिजाता,
रत्न चतुर्दश तुम बिन,कोई नहीं पाता
ॐ जय लक्ष्मी माता…।7।


महा लक्ष्मी जी की आरती, जो कोई जन गाता
ओ मैया जो कोई जन गाता,
उर आनन्द समाता, पाप उतर जाता
ॐ जय लक्ष्मी माता..।8।

Laxmi Mata ki Aarti

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here